खुद के दामन पर लगे दाग के प्रति बेपरवाह रहती है दिल्ली पुलिस, 92 फीसदी शिकायतों पर नहीं हुयी कार्रवाई: आरटीआई

0
Delhi Police

एक आरटीआई के जवाब में दिल्ली पुलिस ने बताया है कि उसे बीते  साढ़े तीन साल में अपने कर्मचारियों के खिलाफ 18,861 शिकायतें मिली जिसमें दिल्ली पुलिस ने इन शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए 1,422 कर्मचारियों को निलंबित किया और 122 को सेवा से बर्खास्त किया। गौर करने वाली बात यह है कि कार्रवाई केवल 8.2 प्रतिशत शिकायतों पर ही की गई। इतना ही नहीं इसी अवधि में निलंबित किए 1,422 में से 80 फीसदी से ज्यादा कर्मचारियों को फिर से बहाल भी कर दिया गया. समाचार एजेंसी ‘भाषा’ ने सूचना का अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के तहत दिल्ली पुलिस से जनवरी 2016 से अगस्त 2019 के बीच उसे अपने कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ मिली शिकायतों तथा उन पर की गई कार्रवाई की जानकारी मांगी थी। जिसके जवाब में दिल्ली पुलिस ने उक्त आंकड़े उपलब्ध कराये हैं।

दिल्ली पुलिस के पूर्व सहायक आयुक्त (एसीपी) वाई के त्यागी ने समाचार एजेंसी को बताया कि किसी कर्मी को निलंबित करना कोई सजा नहीं है। सजा का फैसला विभागीय जांच में होता है। अगर कोई आरोप पहली नजर में सही पाया गया है तो आरोपी कर्मी को उसकी ड्यूटी से निलंबित कर दिया जाता है और जांच में आरोप सही पाए जाने पर सजा का फैसला आरोपों की गंभीरता को देखते हुए लिया जाता है। उन्होंने बताया कि सजा में वेतन वृद्धि रोकने से लेकर सेवाकाल को कम (फोर्टफीट) करना या बर्खास्त करना शामिल होता है और इसकी प्रति पुलिस आयुक्त को भेजी जाती है जिस पर वह फैसला करते हैं।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry