WHO की चौंकाने वाली रिपोर्ट : खतना से महिलाओं पर बुरा असर

0
58
world health organisation

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने फीमेल जेनिटल म्‍यूटिलेशन FGM पर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट पेश की है। रिपोर्ट के मुताबिक, इससे महिलाओं की सेहत पर गंभीर खतरा उत्‍पन्‍न हो गया है। इसके दुष्‍प्रभावों से बचने के लिए दुनिया भर में 14 अरब डॉलर का बोझ पड़ता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि हर साल 20 करोड़ से अधिक महिलाओं और बच्चियों को इसका सामना करना पड़ता है। 

डब्लूएचओ की एक वैज्ञानिक ने बताया कि कई देशों ने इस विकृति को समाप्‍त करने के लिए कानून भी बनाया है। 1997 में अफ्रीका और मध्‍य पूर्व के 26 देशों ने इस प्रथा को कानूनी रूप से प्रति‍बंधित किया। उन्होंने कहा कि 33 देशों में यह प्रथा धड़ल्‍ले से चल रही है। इस बारे में यूनिसेफ का कहना है कि यह चिंताजनक है कि पिछले दो दशकों में FGM की संख्‍या में बेहद इजाफा हुआ है और यह करीब-करीब दोगुना हो गया है।    

आंकड़ों के अनुसार, कई देश अपने कुल स्वास्थ्य व्यय का करीब 10 फीसद हर साल फीमेल जेनिटल म्यूटिलेशन के इलाज पर खर्च करते हैं। कुछ मध्‍य एशिया या अफ्रीकी देशों में यह आकंड़ा 30 फीसद तक है।