पत्रकार महोदय सुनिए, ‘नेता जी’ ढांढस बंधाने जा रहे हैं कृपया ‘कवरेज’ करें

0
Neta ji

द लोकतंत्र / वाराणसी : नेताओं को अपने आगे पीछे कैमरों के फ़्लैश की इतनी गन्दी आदत पड़ चुकी है कि माहौल चाहे जो हो उन्हें पत्रकारों/अख़बारों का अटेंशन चाहिए। सियासत में यह छपास की गंदी बीमारी संवेदनाओं पर भारी है। बीते दिनों बनारस में एक परिवार नें आर्थिक तंगी से आजिज़ आकर ख़ुदकुशी कर ली थी। पंखा कारोबारी चेतन तुलस्यान द्वारा उठाये गए इस कदम से पूरा बनारस स्तब्ध था।

आज एक नेताजी नें पीड़ित परिवार के घर का दौरा प्लान किया था। दुःख की इस घड़ी में भी नेताजी नें मीडिया को आकर कवरेज करने को कहने की आदत नहीं छोड़ पाए। पढ़िए, मीडिया को भेजा गया ‘नेता जी’ का व्हाट्सएप्प सन्देश :

व्हाट्सअप पर प्राप्त इस सूचना को ‘द लोकतंत्र’ द्वारा जानबूझकर ब्लर किया गया है ताकि माननीय पूर्व विधायक जी की इज्जत बनी रहे ।
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry