राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी ने की बैठक, जानिए खास बातें

0
फोटो साभार : गूगल इमेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर आज 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों, उपराज्यपालों और शीर्ष अधिकारियों से बातचीत की है। बता दें, कोरोना वायरस के फैलने के बाद मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ यह छठीं बैठक है।

ये भी पढ़ें : ‘शाह’ के नेतृत्व में कोरोना से लड़ेगी दिल्ली, कमान संभालने के बाद LNJP पहुंचे गृहमंत्री

इस बैठक में पंजाब, केरल, गोवा, उत्तराखंड, झारखंड, पूर्वोत्तर राज्यों समेत कुछ केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री, उपराज्यपाल और प्रशासक भी हिस्सा लिए है। इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल रहे।

आपको बता दें, प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को भी 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के साथ बातचीत करेंगे। इनमें महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, बिहार और उत्तर प्रदेश शामिल रहेंगे।

मुख्यमंत्रियों संग बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया के बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स, हेल्थ के जानकार, लॉकडाउन और भारत के लोगों द्वारा दिखाए गए अनुशासन की आज चर्चा कर रहे हैं। भारत में कोरोना की रिकवरी दर 50 प्रतिशत से ऊपर है। आज भारत दुनिया के उन देशों में अग्रणी है जहां कोरोना संक्रमित मरीजों का जीवन बच रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसान के उत्पाद की मार्केटिंग के क्षेत्र में हाल में जो रिफॉर्म्स किए गए हैं, उससे भी किसानों को बहुत लाभ होगा। इससे किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए विकल्प उपलब्ध होंगे, उनकी आय बढ़ेगी और स्टोरेज के अभाव के कारण उनको जो नुकसान होता था, उसे भी हम कम कर पाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि हमें इस बात का हमेशा ध्यान रखना है कि हम कोरोना को जितना रोक पाएंगे, उसका बढ़ना जितना रोक पाएंगे, उतना ही हमारी अर्थव्यवस्था खुलेगी, हमारे दफ्तर खुलेंगे, मार्केट खुलेंगे, ट्रांसपोर्ट के साधन खुलेंगे, और उतने ही रोजगार के नए अवसर भी बनेंगे।

ये भी पढ़ें : कांग्रेस के लिए ‘रायबरेली’ की राह भी हुयी मुश्किल, अदिति ने कांग्रेस से ‘कम्युनिकेशन’ तोड़ा

पीएम मोदी ने अपील की कि लोग दो गज की दूरी, सैनिटाइजर और हैंड वॉश का इस्तेमाल जरुर करें। उन्होंने कहा कि आज देश के लगभग सारे ऑफिस खुल चुके हैं। ऐसे में ये सारे उपाय कोरोना को रोकने में मददगार होंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि लोकल प्रोडक्ट के लिए जिस क्लस्टर बेस्ड रणनीति की घोषणा की गई है, उसका भी लाभ हर राज्य को होगा। इसके लिए ज़रूरी है कि हम हर ब्लॉक, हर जिले में ऐसे प्रोडक्ट्स की पहचान करें, जिनकी Processing या Marketing करके, एक बेहतर प्रोडक्ट हम देश और दुनिया के बाज़ार में उतार सकते हैं।

पत्रकारिता को राजनीति और कारपोरेट दबावों से पूरी तरह मुक्त रखने के लिए कृपया द लोकतंत्र की आर्थिक मदद करें। किसी भी तरह के स्वैच्छिक राशि को डोनेट करने हेतु बटन पर क्लिक करें –